देखिए, चीन कैसे और किन कंपनियों के जरिए बढ़ा रहा था इंडिया इंक में पैठ

एक हफ्ते तक के मंथन के बाद सरकार ने बीते सप्ताह भारत की सीमा से सटे देशों से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए। इस तरह के प्रतिबंध पहले से बांग्लादेश और पाकिस्तान के मामले में थे। लिहाजा नया कदम चीन से भारत में आने वाले FDI और भारतीय कंपनियों को चीन की नजर से बचाए रखने के लिए उठाया गया है।

10 दिन पहले जब HDFC में चीन के सेंट्रल बैंक के स्टेक बढ़ाकर 1.01 पर्सेंट किए जाने की खबर आई तो भारत चौकन्ना हो गया। आइए जानें, चीन कैसे और किन कंपनियों में अपना स्टेक बढ़ाकर धीरे-धीरे इंडिया इंक में अपनी पैठ बनाने के बारे में सोच रहा था। पेमेंट्स मोबिलिटी और ईकॉमर्स सेक्टर में चीन की कंपनियों ने बड़े निवेश पहले ही किए हैं।

NBT

अंतरराष्ट्रीय | 4 months ago

भुगतान विवाद / माल्या 28 दिन में डिआजियो को 945 करोड़ रुपए चुकाए: यूके हाईकोर्ट

  • ब्रिटिश कंपनी डिआजियो ने माल्या, बेटे सिद्धार्थ और परिवार से संबंधित 2 कंपनियों पर दावा किया था
  • डिआजियो ने 2016 में माल्या की कंपनी में कंट्रोलिंग हिस्सेदारी खरीदने का एग्रीमेंट किया था
  • ऋण वसूली प्राधिकरण में शेयर जब्त होने की वजह से डिआजियो एक्सेस नहीं कर पाई

लंदन. यूके हाईकोर्ट ने विजय माल्या को आदेश दिया है कि वह ब्रिटिश ब्रेवरेजेज कंपनी डिआजियो के 13.5 करोड़ डॉलर (945 करोड़ रुपए) चुकाए। कोर्ट ने शुक्रवार को यह फैसला दिया। माल्या को 28 दिन में भुगतान करना होगा। यह मामला डिआजिओ द्वारा माल्या की कंपनी के अधिग्रहण से जुड़ा है। माल्या के वकील ने कहा था कि एग्रीमेंट के वक्त डिआजियो ने मौखिक रूप से भरोसा दिया था कि वह भारत में विवाद सुलझने तक अपनी रकम चुकाने का दावा नहीं करेगा। कोर्ट ने यह दलील खारिज कर दी। फैसले के वक्त माल्या कोर्ट में मौजूद नहीं था।

280 करोड़ रुपए के भुगतान के मामले में अलग केस चलेगा

  • डिआजियो ने माल्या, बेटे सिद्धार्थ और परिवार से संबंधित दो कंपनियों पर भुगतान का दावा किया था। डिआजियो ने फरवरी 2016 में माल्या की कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट्स लिमिटेड (यूएसएल) में कंट्रोलिंग हिस्सेदारी खरीदने के लिए रकम चुकाई थी लेकिन वह शेयर एक्सेस नहीं कर पाई। माल्या की यूएसएल के कुछ शेयर ऋण वसूली प्राधिकरण (डीआरटी) ने कब्जे में ले लिए थे।
  • इसी मामले से जुड़े 4 करोड़ डॉलर (280 करोड़ रुपए) के दावे का केस भी चलेगा। डिआजियो ने माल्या को सीधे यह रकम दी थी। इस तरह उसने माल्या पर कुल 17.5 करोड़ डॉलर चुकाने का दावा किया था।
  • माल्या के प्रत्यर्पण मामले में 2 जुलाई को यूके हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। एक बार अपील खारिज हो चुकी है। लंदन की वेस्टमिंस्टर अदालत ने पिछले साल माल्या के प्रत्यपर्ण की इजाजत दी थी। वहां के गृह सचिव ने भी मंजूरी दे दी जिसके खिलाफ माल्या ने हाईकोर्ट में अपील की थी।
  • माल्या पर भारतीय बैंकों के 9,000 करोड़ रुपए बकाया हैं। उसकी किंगफिशर एयरलाइंस ने बैंकों से लोन लिया था। माल्या 2016 में लंदन भाग गया। मुंबई की विशेष अदालत (पीएमएलए) उसे भगोड़ा घोषित कर चुकी है। प्रवर्तन निदेशालय देश-विदेश में उसकी संपत्तियां अटैच कर चुका है।

more

अंतरराष्ट्रीय | 1 year ago

राहुल गांधी ने स्वीकारी हार, कहा-अमेठी की प्यार से देखभाल करें स्मृति

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस करते राहुल गांधी

राहुल ने क्या कहा:

  • हार की 100 फीसदी जिम्मेदारी लेता हूं।
  • नरेंद्र मोदी जी को बधाई देना चाहता हूं, कांग्रेस कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करता हूं।
  • दो अलग अलग सोच है, एक नरेंद्र मोदी की, दूसरी कांग्रेस की।
  • चुनाव में नरेंद्र मोदी जीते हैं इसलिए बधाई देता हूं। 
  • कांग्रेस नेता जो जीते हैं या हारे हैं, उनसे कहना चाहता हूं कि डरने की जरूरत नहीं है। विश्वास खोने की जरूरत नहीं है। 
  • मैं चाहूंगा कि स्मृति ईरानी प्यार से अमेठी की देखभाल करें। 
  • प्यार कभी नहीं हारता।

अब तक के रुझानों में एनडीए 346 सीटों पर आगे चल रही है। यूपीए 93 सीटों पर आगे चल रही है। चुनाव आयोग के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक कांग्रेस अपने दम पर 7 जीतें जीत चुकी है और 43 पर आगे चल रही है। 

अंतरराष्ट्रीय | 1 year ago

चीन का सबसे अमीर शख्स बोले- सीईओ से अच्छा है शिक्षक बनना


2.88 लाख करोड़ का है कारोबार

चीन के सबसे अमीर शख्स और अलीबाबा के फाउंडर जैक मा ने रिटायरमेंट लेने की घोषणा कर दी है। अलीबाबा वो ही कंपनी है, जिसका भारत में यूसी ब्राउजर और यूसी न्यूज एप सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं। सोमवार को जैक मा कंपनी में अपना पद छोड़ देंगे। इसकी घोषणा करते हुए खुद जैक ने कहा कि कंपनी के सीईओ बनने से अच्छा है लोगों को पढ़ाना। इसके लिए वो जल्द ही एक नई भूमिका में दिखेंगे।

जैक मा की कुल नेटवर्थ 2.88 लाख करोड़ रुपये है। 54 साल की उम्र में अपने रिटायरमेंट की घोषणा करने वाले जैक ने कहा कि  वह साथी अरबपति बिल गेट्स के कदमों पर चलकर अपने नाम से फाउंडेशन शुरू करना चाहते हैं, जो शिक्षा पर केंद्रित होगा।

उन्होंने कहा कि बिल गेट्स से बहुत कुछ सीखना है। मैं उनकी तरह अमीर तो नहीं बन सकता, पर एक चीज मैं उनसे बेहतर कर सकता हूं। वह यह कि मैं उनसे पहले रिटायर हो सकता हूं। मा ने कहा कि मैं पिछले 10 साल से इसके लिए तैयारी कर रहा हूं।


एक्सपर्ट्स का कहना है कि यदि जैक मा कंपनी छोड़ते हैं तो भी वह पार्टनरशिप स्ट्रक्चर द्वारा नियंत्रित होगी, जो एग्जीक्यूटिव्स के समूह को बोर्ड में सदस्यों का नामांकन करने में सक्षम बनाता है। 


दो बार हुए थे परीक्षा में फेल


अलीबाबा के सीईओ पद से रिटायर होने की घोषणा करने वाले जैक मा चीन की विश्वविद्यालय परीक्षा में दो बार फेल हुए थे। इसी बात से उन्हें काफी कटोच पहुंचती है। मा ने कहा कि वो कभी भी अच्छे छात्र नहीं बन सके, लेकिन इसके बावजूद लगातार सुधार किया और जिंदगी से सीखता रहा।

अंतरराष्ट्रीय | 1 year ago